वेब होस्टिंग क्या है | What is web hosting ?

वेब होस्टिंग (Web Hosting) का सिंपल मतलब ये होता है कि आपकी वेबसाइट के जो भी फाइल्स /वीडियोस /डाक्यूमेंट्स / या किसी भी प्रकार का डाटा ऐसी जगह पर रखना जहा से कभी भी और कही से भी उसे एक्सेस किया जा सके |

वेब होस्टिंग एक तरह से एक हार्ड ड्राइव होती है जैसा हम अपने कंप्यूटर में यूज़ करते है | जिस प्रकार हम कंप्यूटर में रखे किसी भी फाइल को एक्सेस करके प्ले /रिमूव /डिलीट /रीड /राइट कर सकते है लेकिन जब कंप्यूटर ऑन हो और उसी कंप्यूटर से केवल उन फाइल को एक्सेस कर पाएंगे अगर कंप्यूटर ऑफ है तो हम एक्सेस नहीं कर पाएंगे |

यहाँ पर ही हमे होस्टिंग की जरुरत पड़ती है जहा हम कभी भी और किसी भी कंप्यूटर / मोबाइल से उन फाइल को इंटरनेट के माध्यम से एक्सेस कर सकते है |

वेब होस्टिंग कितने प्रकार के होते है | Type Of Web Hosting

बात करे वेब होस्टिंग के प्रकार की तो ये कोई फिक्स नहीं होता समय -समय पर नई फीचर्स के होस्टिंग introduced होते रहते है | यहाँ हम mostly used वेब होस्टिंग की बात करेंगे | अक्सर ज्यादातर लोग या वेबसाइट ओनर यही यूज़ करते है |

4 प्रकार के वेब होस्टिंग हमे देखने को मिलते है जिसका यूज़ फ़िलहाल किया जा रहा है | तो चलिए जानते है कौन -कौन से वेब होस्टिंग है और किसके लिए कौन सी वेब होस्टिंग बेस्ट है |

1 – शेयर्ड होस्टिंग (Shared Hosting)

शेयर्ड होस्टिंग को entry -level -hosting भी कहते है क्युकि यह सस्ती और यूज़ करने में सिंपल होती है | जैसा की नाम से ही लगता है कि कई users के बीच शेयर्ड किया गया है | इसमें एक डेडिकेटेड सर्वर की CPU /RAM /Resource को multiple users के बीच शेयर्ड किया गया होता है इस वजह से ये सस्ता होता है |

अगर आप beginner है तो आपको शेयर्ड होस्टिंग से ही शुरुआत करनी चाहिए | एक अच्छे कंपनी की शेयर्ड होस्टिंग भी आपको अच्छी स्पीड देती है क्युकि शुरुआत में लाइव ट्रैफिक आपके वेबसाइट में कम होते है तो आपका काम आराम से शेयर्ड होस्टिंग से चल जाएगा |

2 – डेडिकेटेड होस्टिंग (Dedicated Hosting)

डेडिकेटेड होस्टिंग सिर्फ किसी एक पर्टिकुलर यूजर या वेबसाइट को डेडिकेटेड होता है इसमें आपके सर्वर को किसी के साथ शेयर नहीं किया जाता है इसमें सर्वर पर पूरा अधिकार आपका ही होता है | इसके ऑपरेटिंग सिस्टम और सेटिंग आप अपने अनुसार कर सकते है |

अगर आपका एक बड़ा बिज़नेस है या आपके वेबसाइट पर काफी ज्यादा ट्रैफिक आता है तो आपको डेडिकेटेड होस्टिंग ही लेना चाहिए |

डेडिकेटेड होस्टिंग होने की वजह से यह काफी महंगा होता है | पर इसके यूज़ से आपके वेबसाइट की स्पीड और रिस्पांस अच्छा हो जाता है |

३ – VPS होस्टिंग (Virtual Private Server Hosting )

VPS होस्टिंग यानि वर्चुअल प्राइवेट सर्वर होस्टिंग आपको एक डेडिकेटेड सर्वर दिया जाता है लेकिन यह वर्चुअल होता है ना की फिजिकल | डेडिकेटेड होस्टिंग में आपको एक फिजिकल सर्वर ही दे दिया जाता है |

VPS होस्टिंग में एक डेडिकेटेड सर्वर को कई सारे वर्चुअल सर्वर में बाट दिया जाता है | और वही एक डेडिकेटेड वर्चुअल सर्वर को आपको दिया जाता है जिसपे आपका ही अधिकार होता है | यह डेडिकेटेड सर्वर जितना अच्छा तो नहीं होता लेकिन शेयर्ड होस्टिंग से बेहतर होता है |

अगर आपके वेबसाइट पर अचानक से ज्यादा ट्रैफिक आ जाता है या फिर आपको अपने वेबसाइट की लोडिंग स्पीड कम हो गया हो या उसे और बढ़ाना चाहते है तो आपको VPS होस्टिंग की तरफ जाना चाहिए |

४ – क्लाउड होस्टिंग (Cloud Hosting )

अब तक हम बात कर रहे थे एक सर्वर को अकेले यूज़ करने की या शेयर करने की मगर क्लाउड होस्टिंग एक लेवल ऊपर ही है यहाँ कई सरे सर्वर को मिलाकर आपको एक डेडिकेटेड कर दिया जाता है जिसपे आप सारे रिसोर्सेस और स्पेस को आप ही यूज़ करते है |

वैसे तो डेडिकेटेड सर्वर में रिसोर्सेस और स्पेस की लिमिटेशन होती है एक लिमिट तक ही इसके रिसोर्सेस और स्पेस को यूज़ कर सकते है लेकिन अधिकतर वेबसाइट उस लिमिट तक नहीं पहुंच पाते है |

लेकिन कुछ बड़े आर्गेनाइजेशन या वेबसाइट जहा पर अचानक से वायरल कंटेंट पर बहुत ज्यादा ट्रैफिक आ जाता है तो वैसे वेबसाइट ओनर क्लाउड होस्टिंग उसे करते है | यह काफी महंगा होस्टिंग होता है |

Spread the love
Shubhashish dey

Hello Friends , My Name Is Shubhashish Dey और मैं technewsfactory.com का founder और author हू साथ में एक Blogger और Digital marketer हू |

1 thought on “वेब होस्टिंग क्या है | What is web hosting ?”

Leave a Comment